ये मस्त महीना फागुन का भजन लिरिक्स | Ye Mast Mahina Fagun Ka Shingaar Bna Har Angan Ka Lyrics

कृष्ण भगवान का यह अद्बुध भजन “ये मस्त महीना फागुन का भजन लिरिक्स | Ye Mast Mahina Fagun Ka Shingaar Bna Har Angan Ka Lyrics” भागवत किशोर जी का गाया हुआ है। इस भजन में बताया गया है की भक्तो को श्याम की सभी बाते कितनी प्यारी लगती है। 


Ye Mast Mahina Fagun Ka Shingaar Bna Har Angan Ka Lyrics

ये मस्त महीना फागुन का
शिंगार बना हर आँगन का
इस रंग का यारो क्या कहना
ये रंग है होरी का गहना
हो हो होरी हो
हो हो होरी हो

हो हो हो…..
आआते कान्हा सही माने मे,
रंग बरसाने बरसाने मे,
बान जाते छैला होली का,
गण गाते नवल किशोरी का
हो हो होरी हो….

हो हो हो….
काई रंगता कोई रंगता है,
काई नाचता कोई नाचता है,
दिल खोल बहरे हस्ति है
ये मस्तानो की मस्ति है
हो हो होरी हो
हो हो होरी हो
हो हो होरी हो

हो हो हो ो ो ओ
आनान्द उन्माद का प्यार नाहि
कहि छोरी तो मनुहार काहि
काई गाल गुलाल मलते है
अपना सा मन्न में लगता है
हो हो होरी हो

हो हो हो ओ ओ ओ
कहि केशर रंग कबोरी मे,
कहि अबीर गुलाल कछोरी मे,
जीस मोखडे पैर ये साजत है,
हळी का रसिया लगता है,
हो हो होरी हो……

हो हो हो ओ ओ ओ……
कहि केशर रंग कबोरी मे,
कहि अबीर गुलाल कछोरी मे,
जीस मोखडे पैर ये साजत है,
हळी का रसिया लगता है,
हो हो होरी हो….
जै जय श्री राधी

हो हो हो ओ….
गुरु मंडल तन मन सब वर,
गता यही बन के बंजारा,
ये रसिक श्याम का सासरिया,
संचि का है बिन्दादिया,
हो हो होरी हो

हो हो हो ओ,
ये मस्त महीना फागुन का,
शिरंगार बना हर आँगन क,
इस रंग का यारो क्या कहना,
ये रंग है होरी का गहना,
हो हो होरी हो

Ye Mast Mahina Fagun Ka Shingaar Bna Har Angan Ka Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री कृष्ण के भक्तो को यह आर्टिकल “ये मस्त महीना फागुन का भजन लिरिक्स | Ye Mast Mahina Fagun Ka Shingaar Bna Har Angan Ka Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Ye Mast Mahina Fagun Ka Shingaar Bna Har Angan Ka Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here