shri shiv stuti Header

बिना राम रघुनंदन के लिरिक्स | Bina Ram Raghunandan Ke Lyrics

मर्यादा पुरषोत्तम श्री राम का अति पावन भजन “बिना राम रघुनंदन के लिरिक्स | Bina Ram Raghunandan Ke Lyrics” – राम भक्त के द्वारा गाया गया है। इस भजन में राम भक्ति की महिमा का बखान किया गया है।


Bina Ram Raghunandan Ke Lyrics

बिना राम रघुनंदन के, कोई नहीं है अपना रे,
जहाँ राम है, सच वही, बाकी जगत इक सपना रे ।
सदा राम रहे राज़ी मुझसे, कर्म वही मुझे करना है,
जहां धर्म है राम वही , मोहे राम डगर ही चलना है ।।

बोलो राम, जय सिया राम, जय रघुनंदन जय जय राम ।।

राम की करुणा किरपा है, जो अब तक मुझे संभाले है,
यदा कदा नहीं सर्वदा, संकट से राम निकाले है ।
हैँ राम मेरे और राम का मै, बाकी फ़िकर क्या करना रे,
जहाँ राम है सुख वहीं, दुख मे भी राम को भजना रे ।।

राम की हर इक आदत जब आदत मेरी बन जाएगी,
उस दिन जगत में राम कसम, हर बात मेरी बन जाएगी ।
माया पति जब पास मेरे, माया को क्या तरसना रे,
जहां राम है, यश वही, जीवन की मधुर हर रसना रे ।।

सतयुग था वो ये कलयुग है, यहाँ राम से ज्यादा रावण है,
रहे आज भी महल मे रावन, राम भटकते वन वन है ।
जीत अटल है राम की, रावण को पडेगा मरना रे,
जहाँ राम है मुक्ति वहीं, भव राम सहारे तरना रे ।।

Bina Ram Raghunandan Ke Lyrics

Bina Ram Raghunandan Ke Lyrics PDF


हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्तो को यह आर्टिकल “बिना राम रघुनंदन के लिरिक्स | Bina Ram Raghunandan Ke Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Bina Ram Raghunandan Ke Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment