राम सा नही कोई और उद्दार लिरिक्स | Ram Sa Nahi Aur Koi Uddar Lyrics

मर्यादा पुरषोत्तम श्री राम का अति पावन भजन “राम सा नही कोई और उद्दार लिरिक्स | Ram Sa Nahi Aur Koi Uddar Lyrics” – रविंद्र जैन जी के द्वारा गाया गया है। इस भजन में राम भक्ति की महिमा का बखान किया गया है।


Ram Sa Nahi Aur Koi Uddar Lyrics

राम सा नही कोई उद्दार,
चरण पड़े को शरण मे रखे,
करदे बेड़ा पार,
राम सा नही कोई उद्दार…

मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभुवर,
करते सदा कृपा करुणाकर,
गीध को लेकर गॉड में अपनी,
किया अंतिम संस्कार,
राम सा नही कोई उद्दार…

बड़ा दयालु है रघुनंदन,
कर में धनु और सोहे चन्दन,
चरण धुलाये केवट घर जा,
अउ किया उद्दार,
राम सा नही कोई उद्दार…

छमावान नही इन सा कोई,
दयावान नही इन सा कोई,
“राजेन्द्र” श्रापित नार अहिल्या,
को हरी दीन्हे तार,
राम सा नही कोई उद्दार…

Ram Sa Nahi Aur Koi Uddar Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्तो को यह आर्टिकल “राम सा नही कोई और उद्दार लिरिक्स | Ram Sa Nahi Aur Koi Uddar Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Ram Sa Nahi Aur Koi Uddar Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment

आरती : जय अम्बे गौरी मैया जय श्यामा गौरी