माँ नमो नर्मदे लिरिक्स | Narmade Narmade Maa Namo Narmade Lyrics


Narmade Narmade Maa Namo Narmade Lyrics

माँ पतितपावनी हे माँ जगतारिणी
माँ मगरवाहिनी नर्मदे नर्मदे नर्मदे
माँ नमो नर्मदे नर्मदे

कोई बस्ती ना थी और ना घर भी ना था
कोई ना घर भी ना था और मंदिर ना था
लाखो बरसो था पहले समंदर यहाँ
ही प्रलयकाल में ही प्रलयकाल में
थी मगर नर्मदे नर्मदे नर्मदे नर्मदे
माँ नमो नर्मदे नर्मदे

पाप कट जाते है एक ही स्नान से
मुक्ति मिल जाती है तेरे गुणगान से
लोग होते तपी माँ तेरे ध्यान से
तू है भवतारिणी तू है भवतारिणी
रेवा माँ नर्मदे नर्मदे नर्मदे नर्मदे
माँ नमो नर्मदे नर्मदे

तन को शीतल करे मन को निर्मल करे
दिन दुखियो की माँ रेवा संकट हरे
खाली झोली है जिनकी तू झोली भरे
है चमत्कारी माँ है चमत्कारी माँ
माँ मेरी नर्मदे नर्मदे नर्मदे नर्मदे
माँ नमो नर्मदे नर्मदे

Narmade Narmade Maa Namo Narmade Lyrics

Narmade Narmade Maa Namo Narmade Lyrics PDF

Leave a Comment