Kanya Hai Roop Mahamayi Ka Lyrics


Kanya Hai Roop Mahamayi Ka Lyrics

जय जय माँ जय जय माँ जय जय माँ
जय जय माँ अम्बे माँ जय जय माँ अम्बे माँ
जीन नजरो ने जीन नजरो ने घर में है पा लिया
कन्या में ही है रूप मायी का

जीन नजरो ने जीन नजरो ने घर में है पा लिया
कन्या में ही है रूप मायी का
पूजे कन्या को माई को रिझा लिया
कन्या में ही है रूप मायी का

जीन नजरो ने घर में है पा लिया
कन्या में ही है रूप मायी का
जय जय माँ जय जय माँ जय जय माँ
जय जय माँ अम्बे माँ जय जय माँ अम्बे माँ

देखा नहीं माँ को पर कन्या को देखा है
जिसने बदल दी मेरे भाग्य की रेखा है
जय माँ जय माँ जय जय जय जय माँ
देखा नहीं माँ को पर कन्या को देखा है

जिसने बदल दी मेरे भाग्य की रेखा है
यही सोच से मन को मना लिया
कन्या में ही है रूप मायी का
जीन नजरो ने घर में है पा लिया

कन्या में ही है रूप मायी का
जीन नजरो ने घर में है पा लिया
जय जय माँ जय जय माँ जय जय माँ
जय जय माँ अम्बे माँ जय जय माँ अम्बे माँ

कोमल ह्रदय है लेकिन शक्ति अपार है
इनकी ही रचना ये सारा संसार है
जय माँ जय माँ जय जय जय जय माँ
हाँ कोमल ह्रदय है लेकिन शक्ति अपार है

इनकी ही रचना ये सारा संसार है
जैसा चाहा जिसे वैसा ही बना दिया
कन्या में ही है रूप मायी का
जीन नजरो ने घर में है पा लिया
कन्या में ही है रूप मायी का

जिस घर बेटियों का होता सम्मान है
दास वो ही घर मानो स्वर्ग समान है
जय माँ जय माँ जय जय जय माँ
हो जिस घर बेटियों का होता सम्मान है

दास वो ही घर मानो स्वर्ग समान है
भेद जिसने ये दिल में बसा लिया
कन्या में ही है रूप मायी का
जीन नजरो ने घर में है पा लिया

कन्या में ही है रूप मायी का
पूजे कन्या को माई को रिझा लिया
कन्या में ही है रूप मायी का
जीन नजरो ने घर में है पा लिया

जीन नजरो ने घर में है पा लिया
कन्या में ही है रूप मायी का
जीन नजरो ने घर में है पा लिया
कन्या में ही है रूप मायी का

Kanya Hai Roop Mahamayi Ka Lyrics

Leave a Comment