कभी न बिसरू राम को भजन लिरिक्स | Kabhi Na Bisru Ram Ko Lyrics

मर्यादा पुरषोत्तम श्री राम का अति पावन भजन “कभी न बिसरू राम को भजन लिरिक्स | Kabhi Na Bisru Ram Ko Lyrics” – महेंद्र कपूर जी के द्वारा गाया गया है। इस भजन में राम भक्ति की महिमा का बखान किया गया है।


Kabhi Na Bisru Ram Ko Lyrics

कभी न बिसरूं राम को चाहे
दुनिया बिसरी जाए
सब अर्पण उस नाम को
भाव सागर पार लगाये

दुनिया बिसरी जाए

वो ही सांचा मीत हे
वो ही तारन हार
इस जग में हे कुछ नहीं
झूठा सब व्यवहार

चिर संगी मेरा राम हे
वो ही प्रीत जगाये
दुनिया बिसरी जाए
कभी न बिसरूं राम को चाहे

दुनिया बिसरी जाए

सहज भजू हरी नाम को
तजूं जगत तो स्नेह
अपना कोई हे नहीं
अपनी सगी न देह

सब कुछ दीन्हा
राम ने अंतर अलख जगाये
दुनिया बिसरी जाए
कभी न बिसरूं राम को चाहे

तू ही दाता तू ही खिव्वैया
और कहीं क्यूँ जाऊं
तेरे चरण ही मथुरा काशी तु
झको सीस नवाऊ

तेरा दर्शन करके भगवन
जनम मरण मिट जाए
दुनिया बिसरी जाए
कभी न बिसरूं राम को चाहे

दुनिया बिसरी जाए
दुनिया बिसरी जाए

Kabhi Na Bisru Ram Ko Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्तो को यह आर्टिकल “कभी न बिसरू राम को भजन लिरिक्स | Kabhi Na Bisru Ram Ko Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। ‘ Kabhi Na Bisru Ram Ko Lyrics ‘ भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment