जगत सारा माँ की मन्नत है लिरिक्स | Jagat Sara Maa Ki Mannat Hai Lyrics

दुर्गा माता का भजन “जगत सारा माँ की मन्नत है लिरिक्स | Jagat Sara Maa Ki Mannat Hai Lyrics” बेटी प्रियंका जी के द्वारा गाया हुआ है। दुर्गा माता का भजन, वीडियो और लिरिक्स दिया गया है।


Jagat Sara Maa Ki Mannat Hai Lyrics

माँ में संसार समाया ऋषि मुनियों ने बतलाया ।
प्रभु ने खुद से भी है पुछा माँ है साथन बताया ।।
।। जगत सारा माँ की मन्नत है चरणों में जन्नत है ।।

ममता के मंदिर की है माँ सब से प्यारी मूर्त,
भगवान नजर आता है जब देखू माँ की सूरत ।
माँ के पावन चरणों में सचा वैकुंठ समाया,
इस प्यार भरी ममता को स्वयम नारायण ने पाया ।।
।। जगत सारा माँ की मन्नत है चरणों में जन्नत है ।।

जो भरी धुप में करदे अपनी आँचल की छाया,
गोद में भर के तन को मेरा हर दोष मिटाया ।
जो खुद धरती पर सोये मेरे हर अष्ट को धोये,
चाहे जो कष्ट उठाये संतान न भूखी सोये ।।
।। जगत सारा माँ की मन्नत है चरणों में जन्नत है ।।

अपने बच्चे के आंसू आँचल में अपने पिरोती,
शब्दों में बयानन होगा ऐसा अनमोल ये मोती ।
नैनो में शीतल धारा जैसे चमकीला तारा,
तला जुबा को देती शब्दों की अविरल धारा ।।
।। जगत सारा माँ की मन्नत है चरणों में जन्नत है ।।

Jagat Sara Maa Ki Mannat Hai Lyrics

हमें उम्मीद है की माँ दुर्गा के भक्तो को यह आर्टिकल “जगत सारा माँ की मन्नत है लिरिक्स | Jagat Sara Maa Ki Mannat Hai Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Jagat Sara Maa Ki Mannat Hai Lyrics ” पर आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here