हूण क्यों करा परवाह मैं जग दी लिरिक्स | Hun Kyu Kra Parwah Main Jag Di Lyrics

Hun Kyu Kra Parwah Main Jag Di Lyrics

जद दा तेनु भूल गया सी माँ कखा वांगु रुल गेया सी माँ,
मतबल खोरी दुनिया ने जद दा मेनू ठुकराया
हूँ क्यों करा परवाह मैं जग दी तू जद दा चरनी लाया

मैं गलतिया दा सी पुतला माये तू फिर भी कीने राह दिखाए,
जो मुसीबता मेरे ते पाईया करदा तू सफाया
हूँ क्यों करा परवाह मैं जग दी तू जद दा चरनी लाया

सब कुछ सी अपना मैं खोया दर दर दा मोहताज सी होया,
ठागिया मारण रोकेया मेनू तू करना दान सिखाया
हूँ क्यों करा परवाह मैं जग दी तू जद दा चरनी लाया

दयाल पूरी दी एह कहानी लिखदी ओहदी कलम निमानी,
मिठड़े मिठड़े बोला नाल लख विंदर ने गाया
हूँ क्यों करा परवाह मैं जग दी तू जद दा चरनी लाया

Hun Kyu Kra Parwah Main Jag Di Lyrics

Leave a Comment

आरती : जय अम्बे गौरी मैया जय श्यामा गौरी