एक कोरे कागज पे तूने कलम चलाई है भजन लिरिक्स | Ek Kore Kagaj Pe Tune Kalam Chalai Hai Lyrics

गुरुदेव भजन “एक कोरे कागज पे तूने कलम चलाई है भजन लिरिक्स | Ek Kore Kagaj Pe Tune Kalam Chalai Hai Lyrics” – किशन कुमार जी के द्वारा गाया गया है। इस भजन में गुरु की भक्ति की महिमा का बखान किया गया है।


Ek Kore Kagaj Pe Tune Kalam Chalai Hai Lyrics

एक कोरे कागज पे,
तूने कलम चलाई है,
सत पथ की राह गुरु,
तूने दिखलाई है,
एक कोरे कागज़ पे,
तूने कलम चलाई है।।

माता ने जन्म दिया,
गुरुवर को सौंप दिया,
अज्ञान अंधेरों का,
क्षण भर में लोप किया,
सत्कर्म सरल भाषा,
तूने सिखलाई है,
एक कोरे कागज़ पे,
तूने कलम चलाई है।।

तू ज्ञान का सागर है,
गुणगान करे तेरा,
सद्गुण की गागर है,
सम्मान करें तेरा,
प्रभुवर से मिलने की,
युक्ति बतलाई है,
एक कोरे कागज़ पे,
तूने कलम चलाई है।।

सद्गुरु मिल जाने से,
जीवन खिल जाता है,
भव पार उतरने का,
रास्ता मिल जाता है,
ऐ ‘हर्ष’ गुरु तुमसे,
मुक्ति मिल पाई है,
एक कोरे कागज़ पे,
तूने कलम चलाई है।।

एक कोरे कागज पे,
तूने कलम चलाई है,
सत पथ की राह गुरु,
तूने दिखलाई है,
एक कोरे कागज़ पे,
तूने कलम चलाई है।।

Ek Kore Kagaj Pe Tune Kalam Chalai Hai Lyrics

हमें उम्मीद है की गुरुभक्तो को यह आर्टिकल “एक कोरे कागज पे तूने कलम चलाई है भजन लिरिक्स | Ek Kore Kagaj Pe Tune Kalam Chalai Hai Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Ek Kore Kagaj Pe Tune Kalam Chalai Hai Lyrics ” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here