दुःख हरो द्वारिका नाथ सरन मैं तेरी लिरिक्स | Dukh Haro Dwarka Nath Sharan Mein Teri Lyrics

कृष्ण भगवान का यह अद्बुध भजन “दुःख हरो द्वारिका नाथ सरन मैं तेरी लिरिक्स | Dukh Haro Dwarka Nath Sharan Mein Teri Lyrics” मुकेश जी के द्वारा गाया हुआ है। भजन के लिरिक्स हिंदी और इंग्लिश में वीडियो के साथ दिए हुए है।


Dukh Haro Dwarka Nath Sharan Mein Teri Lyrics

तुम कहाँ छुपे भगवान करो मत देरी,
दुःख हरो द्वारकानाथ शरण मैं तेरी ।
दुख हरो द्वारिकानाथ शरण मैं तेरी ।।

यही सुना है दीनबन्धु तुम सबका दुख हर लेते,
जो निराश हैं उनकी झोली आशा से भर देते ।
अगर सुदामा होता मैं तो दौड़ द्वारका आता,
पाँव आँसुओं से धो कर मैं मन की आग बुझाता ।
तुम बनो नहीं अनजा सुनो भगवान करो मत देरी ।।

दुःख हरो द्वारकानाथ शरण मैं तेरी ।
दुख हरो द्वारिकानाथ शरण मैं तेरी ।।

जो भी शरण तुम्हारी आता, उसको धीर बंधाते,
नहीं डूबने देते दाता नैया पार लगाते ।
तुम न सुनोगे तो किसको मैं अपनी व्यथा सुनाऊँ,
द्वार तुम्हारा छोड़ के भगवन और कहाँ मैं जाऊँ ।
प्रभु कब से रहा पुकार मैं तेरे द्वार करो मत देरी ।।

दुःख हरो द्वारकानाथ शरण मैं तेरी ।
दुख हरो द्वारिकानाथ शरण मैं तेरी ।।

राम भजनदुर्गा भजनविष्णु भजनआरती
शिव भजनश्याम भजनगणेश भजनचालीसा
कृष्ण भजनहनुमान भजनसाईं भजनस्तुति
गुरु भजनशनि भजनदेशभक्तिस्तोत्र
लक्ष्मी भजनराधा भजनजैन भजनमीरा

हमें उम्मीद है की श्री कृष्ण के भक्तो को यह आर्टिकल “दुःख हरो द्वारिका नाथ सरन मैं तेरी लिरिक्स | Dukh Haro Dwarka Nath Sharan Mein Teri Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Dukh Haro Dwarka Nath Sharan Mein Teri Lyrics” भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment