shri shiv stuti Header

तुम करो राजा भीम एकादशी लिरिक्स | Tum Karo Raja Bhim Ekadashi Lyrics

यह अद्बुध एकादशी भजन “तुम करो राजा भीम एकादशी लिरिक्स | Tum Karo Raja Bhim Ekadashi Lyrics” अनूप जालोटा जी का गाया हुआ है। इस भजन में हरी भक्त भगवन विष्णु के एक बार दर्शन की अभिलाषा व्यक्त कर रहे है।


Tum Karo Raja Bhim Ekadashi Lyrics

तुम करो राजा भीम एकादशी,
मोपे नहीं होवे जगदीश,
अन्न बिना भूखी डोले आत्मा…

मैं तो जंगलों में कुएं खुदबाऊगा,
और पानी के करूंगा मैं दान,
अन्न बिना मुखी डोले आत्मा…

मैं तो जंगलों में बाग रे लगाऊंगा,
और फलों के करूंगा मै दान,
अन्न बिना भूखी डोले आत्मा…

मैं तो बड पीपल लगबाऊगा,
और तुलसी का करूंगा विवाह,
अन्न बिना भूखी डोले आत्मा…

मैं तो बहन भानजी बुलाऊंगा,
और खुब भराऊ में तो भात,
अन्न बिना भुकी डोले आत्मा…

मैं तो मंदिर शिवालय बनवा लूंगा,
और मूर्ति बैठाऊ भगवान अन्न,
बिना भूखी डोले आत्मा…

मैं तो अंगना में हवन कराऊगा,
और गऊऔ के कराऊ मैं तो दान
अन्न बिना भुकी डोले आ…

मैं तो अंगना में पंडित जीमाऊगा,
और कपड़ों के करूं मैं तो दान,
अन्न बिना भुकी ‌डोले आत्मा…

जो तुम बरत ना करो पांचों पाणबा,
तुमरी नहीं जीतने की उम्मी,
अन्न बिना भूखी डोले आत्मा…

जो तुम करो ना करो राजा भीम जी,
तुमरी नहीं रे स्वर्ग की उम्मीद,
अन्न बिना भूखी डोले आत्मा…

मैं तो मानूंगी आ गया मेरे राम जी,
करु ग्यारस बरत जगदीश,
अन्न बिना भुकी डोले आत्मा…

तुम करो राजा भीम एकादशी,
मोपे नहीं होवे जगदीश,
अन्न बिना भूखी डोले आत्मा…

Tum Karo Raja Bhim Ekadashi Lyrics

हमें उम्मीद है की भगवान विष्णु के भक्तो को यह आर्टिकल “तुम करो राजा भीम एकादशी लिरिक्स | Tum Karo Raja Bhim Ekadashi Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। “Tum Karo Raja Bhim Ekadashi Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment