तेरे दर पे सर झुकाया लिरिक्स | Tere Dar Pe Sar Jhukaya Lyrics

दुर्गा माता का भजन “तेरे दर पे सर झुकाया लिरिक्स | Tere Dar Pe Sar Jhukaya Lyrics” राजनीत राजा जी के द्वारा गाया हुआ है। दुर्गा माता का भजन, वीडियो और लिरिक्स दिया गया है।


Tere Dar Pe Sar Jhukaya Lyrics

तेरे दर पे सर झुकाया
और सब कुछ पा लिया,
तूने मुझ गरीब को
अपना बना लिया

तेरे दर पे सर झुकाया
और सब कुछ पा लिया

दुनिया की ठोकरी थी
सहारा था बस तेरा
इक तेरे सिवा
मेरी मैया कौन था मेरा

बदनसीबी का मेरी
नसीबा जगा दिया
तेरे दर पे सर झुकाया
और सब कुछ पा लिया

भरदोगी खाली दामन
ये यकीन था मुझे
तेरा जगाया दीपक
आंधी में भी न भुजे

तूने तो मेरे सिर को
माँ दुनिया में उठा दियां
तेरे दर पे सर झुकाया
और सब कुछ पा लिया

टूटी हुई है वाणी
गुणगान क्या करू
कैसे मैं तेरी महिमा
इस मुख से व्यान करू

रणजीत को मेरी माँ
तूने लायक बना दिया
तेरे दर पे सर झुकाया
और सब कुछ पा लिया

Tere Dar Pe Sar Jhukaya Lyrics

हमें उम्मीद है की माँ दुर्गा  के भक्तो को यह आर्टिकल “तेरे दर पे सर झुकाया लिरिक्स | Tere Dar Pe Sar Jhukaya Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। “तेरे दर पे सर झुकाया लिरिक्स | Tere Dar Pe Sar Jhukaya Lyrics” पर आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment