भगवन आस लगाए कब से लिरिक्स | Bhagvan Aas Lagaye Kab Se Lyrics

मर्यादा पुरषोत्तम श्री राम का अति पावन भजन “भगवन आस लगाए कब से लिरिक्स | Bhagvan Aas Lagaye Kab Se Lyrics” – ओमप्रकाश जी के द्वारा गाया गया है। इस भजन में राम भक्ति की महिमा का बखान किया गया है।


भगवन आस लगाए कब से लिरिक्स

भगवन आस लगाए कब से,
देखो बाट निहारे है ।
फसी है बीच भवर नईया,
भगवन तुमको पुकारे है ।।

दर दर ठोकर मैंने खाई,
दर दर जाकर ज्योत जलाई ।
अब तो सुन लो मेरी पुकार,
भगवन बाट निहारे है ।।

भगवन आस लगाए कब से ।
देखो बाट निहारे है ।।

मैं पापी मुझे देदो सहारा,
दूर बसनो से देदो किनारा ।
भगवन आस लगाए कब से,
देखो बाट निहारे है ।।

अब तो सुन लो मेरी पुकार,
भगवन बाट निहारे है ।
भगवन आस लगाए कब से,
देखो बाट निहारे है ।।


Bhagvan Aas Lagaye Kab Se Lyrics

Bhagvan Aas Lagaye Kab Se,
Dekho Baat Nihare Hai ।
Fasi Hai Bich Bhavar Naiya,
Bhagvan Tumko Pukare Hai ।।

Dar Dar Thokar Mene Khai,
Dar Dar Jakar Jyot Jalai ।
Ab To Sun Lo Meri Pukaar,
Bhagvan Baat Nihare ।।

Bhagvan Aas Lagaye Kab Se ।
Dekho Baat Nihare Hai ।।

Me Paapi Mujhe Dedo Sahara,
Door Basno Se Dedo Kinara ।
Bhagvan Aas Lagaye Kab Se,
Dekho Baat Nihare Hai ।।

Ab To Sunlo Meri Pukaar,
Bhagvan Baat Nihare Hai ।
Bhagvan Aas Lagaye Kab Se,
Dekho Baat Nihare Hai ।।

Bhagvan Aas Lagaye Kab Se Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री राम के भक्तो को यह आर्टिकल “भगवन आस लगाए कब से लिरिक्स | Bhagvan Aas Lagaye Kab Se Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। ‘ Bhagvan Aas Lagaye Kab Se Lyrics ‘ भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment