तोरे माथे की बिन्दिया गजब चमके लिरिक्स | Tore Mathe Ki Bindiyan Gajab Chamke Lyrics

दुर्गा माता का भजन “तोरे माथे की बिन्दिया गजब चमके लिरिक्स | Tore Mathe Ki Bindiyan Gajab Chamke Lyrics” शंकर सिंह ठाकुर जी के द्वारा गाया हुआ है। दुर्गा माता का भजन, वीडियो और लिरिक्स दिया गया है।


Tore Mathe Ki Bindiyan Gajab Chamke Lyrics

तोरे माथे की बिन्दिया गज़ब चमके माई मारे ये लश्कारे,
सझ धज के तू बेठी भवानी जगदम्बे संतोषी रानी,

कोई तुम को लगाये मेहँदी कोई तुम को लगाये टिका,
कोई तेरे करे जैकारे कोई तेरि अराती उतारे,
कोई तेरे चरण पखारे कोई करता है अरदास,
तेरे कानो का झुमका चमक मारे,
हाय मारे लिच्कारे तेरे माथे की बिन्दिया

हम तो दुखिया आये द्वारे हम को अपने गले से लगा ले,
हम तो तेरी बात निहारे तुझसे करते है जय कार ,
तेरे चरणों पखारे रानी तेरे तो आये हम तो द्वारे,
तेरे पैरो की पायल छनक चमके मोहे मारे ये लिशकारे,
तेरे माथे की बिन्दिया

Tore Mathe Ki Bindiyan Gajab Chamke Lyrics

हमें उम्मीद है की माँ दुर्गा के भक्तो को यह आर्टिकल “तोरे माथे की बिन्दिया गजब चमके लिरिक्स | Tore Mathe Ki Bindiyan Gajab Chamke Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। Tore Mathe Ki Bindiyan Gajab Chamke पर आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here