Kanha Aan Padi Main Tere Dwar Lyrics | कान्हा आन पड़ी में तेरे द्वार लिरिक्स

कृष्ण भगवान का यह अद्बुध भजन “Kanha Aan Padi Main Tere Dwar Lyrics | कान्हा आन पड़ी में तेरे द्वार लिरिक्स” साधना सरगम गाया हुआ है। इस भजन में मीरा का श्री कृष्ण के प्रति प्रेम में जो पीड़ा सही है उनके बारे में बताया गया है।


कान्हा आन पड़ी में तेरे द्वार लिरिक्स

कान्हा कान्हा आन पड़ी मैं तेरे द्वार
मोहे चाकर समझ निहार कान्हा

तू जिसे चाहे ऐसी नहीं मैं
हाँ तेरी राधा जैसी नहीं मैं
फिर भी हूँ कैसी, कैसी नहीं मैं
कृष्णा मोहे देख तो ले एक बार

बूँद ही बूँद मैं प्यार की चुनकर
प्यासी रही पर लाई हूँ गिरिधर
टूट ही जाए आस की गागर
मोहना ऐसी कांकरिया नहीं मार

माटी करो या स्वर्ण बना लो
तन को मेरे चरणों से लगा लो
मुरली समझ हाथों में उठा लो
सोचो ना कछु अब हे कृष्ण मुरार

Kanha Aan Padi Main Tere Dwar Lyrics

Kanha Aan Padi Main Tere Dwar Lyrics

Kaanha kaanha an padi main tere dwaar
Mohe chaakar samajh nihaar kaanha

Tu jise chaahe aisi nahin main
Haan teri raadha jaisi nahin main
Fir bhi hun kaisi, kaisi nahin main
Krishna mohe dekh to le ek baar

Bund hi bund main pyaar ki chunakar
Pyaasi rahi par laai hun giridhar
Tut hi jaae as ki gaagar
Mohana aisi kaankariya nahin maar

Maati karo ya swarn bana lo
Tan ko mere charanon se laga lo
Murali samajh haathon men uthha lo
Socho na kachhu ab he krishn muraar


हमें उम्मीद है की श्री कृष्ण के भक्तो को यह आर्टिकल Kanha Aan Padi Main Tere Dwar Lyrics | कान्हा आन पड़ी में तेरे द्वार लिरिक्स + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here