गणेश मंत्र : वक्रतुण्ड महाकाय | Ganesh Mantra : Vakratunda Mahakaya Lyrics

भगवान गणेश का “गणेश मंत्र : वक्रतुण्ड महाकाय | Ganesh Mantra : Vakratunda Mahakaya Lyrics” Ketan Patwardhan Ji के द्वारा गाया हुआ है। श्री गणेश मंत्र का जाप करने से भगवान गणेश खुश होते है और अपना आशीर्वाद बनाये रखते है। किसी भी कार्य को करने पहले गणेश मंत्र का जाप करना शुभ मना जाता है।


Ganesh Mantra : Vakratunda Mahakaya Lyrics

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ।
निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥

Vakra-Tunndda Maha-Kaaya,
Suurya-Kotti Samaprabha।
Nirvighnam Kuru Me Deva,
Sarva-Kaaryessu Sarvadaa॥

घुमावदार सूंड वाले, विशाल शरीर काय, करोड़ सूर्य के समान महान प्रतिभाशाली।
मेरे प्रभु, हमेशा मेरे सारे कार्य बिना विघ्न के पूरे करें (करने की कृपा करें)॥

Ganesh Mantra  Vakratunda Mahakaya Lyrics

हमें उम्मीद है की गणेश जी के भक्तो को यह आर्टिकल “गणेश मंत्र : वक्रतुण्ड महाकाय | Ganesh Mantra : Vakratunda Mahakaya Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here