मुरली वाले ने घेर लई अकेली पनिया गयी लिरिक्स | Murali Vale Ne Gher Layi Lyrics

कृष्ण भगवान का यह अद्बुध भजन “मुरली वाले ने घेर लई अकेली पनिया गयी लिरिक्स | Murali Vale Ne Gher Layi Lyricsर के रचैया भजन लिरिक्स | Main Hu Sharan Me Teri Bhajan Lyrics” तृप्ति शाक्या जी के द्वारा गाया हुआ है। भजन के लिरिक्स हिंदी और इंग्लिश में वीडियो के साथ दिए हुए है।


Murali Vale Ne Gher Layi Lyrics

मुरली वाले ने घेर लई,
अकेली पनिया गयी।।

मै तो गयी थी यमुना तट पे,
कान्हा खड़ा था री पनघट पे,
बड़ी मुझ को री देर भई,
अकेली पनिया गयी।।

श्याम ने मेरी चुनरी झटकी,
सर से मेरे घिर गयी मटकी,
बईया मेरी मरोड़ गयी,
अकेली पनिया गयी।।

बड़ा नटखट है श्याम सांवरिया,
दे डारी मेरी कोरी चुनरिया,
मेरी गागरिया फोड़ दई,
अकेली पनिया गयी।।

लाख कही पर एक ना मानी,
भरने ना दे वो मोहे पानी,
मारे लाज के मै मर गयी,
अकेली पनिया गयी।।

Murali Vale Ne Gher Layi Lyrics

हमें उम्मीद है की श्री कृष्ण के भक्तो को यह आर्टिकल “मुरली वाले ने घेर लई अकेली पनिया गयी लिरिक्स | Murali Vale Ne Gher Layi Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Murali Vale Ne Gher Layi Lyrics ” भजन के आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here