अब जाग उठो कमर कसो लिरिक्स | Ab Jaag Utho Kamar Kaso Lyrics

देशभक्ति गीतअब जाग उठो कमर कसो लिरिक्स | Ab Jaag Utho Kamar Kaso Lyrics” प्रकाश माली जी के द्वारा गाया हुआ है।


Ab Jaag Utho Kamar Kaso

अब जाग उठो कमर कसो,
मंजिल की राह बुलाती है,
ललकार रही हमको दुनिया,
भेरी आवाज़ लगाती है,
अब जाग उठों कमर कसो।।

है ध्येय हमारा दूर सही,
पर साहस भी तो क्या कम है,
हमराह अनेको साथी है,
क़दमों में अंगद का दम है,
असुरों की लंका राख करे,
वह आग लगानी आती है।
अब जाग उठों कमर कसो,
मंजिल की राह बुलाती है,
ललकार रही हमको दुनिया,
भेरी आवाज़ लगाती है,
अब जाग उठों कमर कसो।।

पग-पग पर काँटे बिछे हुए,
व्यवहार कुशलता हममें है,
विश्वास विजय का अटल लिए,
निष्ठा कर्मठता हममें है,
विजयी पुरखों की परंपरा,
अनमोल हमारी थाती है।
अब जाग उठों कमर कसो,
मंजिल की राह बुलाती है,
ललकार रही हमको दुनिया,
भेरी आवाज़ लगाती है,
अब जाग उठों कमर कसो।।

हम शेर शिवा के अनुगामी,
राणा प्रताप की आन लिए,
केशव माधव का तेज लिए,
अर्जुन का शरसंधान लिए,
संगठन तन्त्र की व्यूह कला,
वैभव का चित्र सजाती है।
अब जाग उठों कमर कसो,
मंजिल की राह बुलाती है,
ललकार रही हमको दुनिया,
भेरी आवाज़ लगाती है,
अब जाग उठों कमर कसो।।

अब जाग उठो कमर कसो,
मंजिल की राह बुलाती है,
ललकार रही हमको दुनिया,
भेरी आवाज़ लगाती है,
अब जाग उठों कमर कसो।।

Ab Jaag Utho Kamar Kaso Lyrics

Ab Jaag Utho Kamar Kaso PDF


हमें उम्मीद है की देशभक्तो को यह आर्टिकल “अब जाग उठो कमर कसो लिरिक्स | Ab Jaag Utho Kamar Kaso Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Ab Jaag Utho Kamar Kaso Lyrics” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment