ओ मेरी लक्ष्मी माता जग में माया तेरी अपरम्पार लिरिक्स | O Meri Lakshmi Mata Jag Me Maya Teri Aprampar Lyrics

धन की देवी माँ लक्ष्मी का भजन “ओ मेरी लक्ष्मी माता जग में माया तेरी अपरम्पार लिरिक्स | O Meri Lakshmi Mata Jag Me Maya Teri Aprampar Lyrics” लखबीर सिंह लक्खा जी का गाया हुआ है।


O Meri Lakshmi Mata Jag Me Maya Teri Aprampar Lyrics

ओ मेरी लक्ष्मी माता जग में माया तेरी अपरम्पार,
शाम सवेरे आप की पूजा करता है सारा संसार ।
ओ मेरी लक्ष्मी माता जग में माया तेरी अपरम्पार ।।

के माँ प्रगत हुई सागर से प्यारी तुम विष्णु भगवान की,
इस दुनिया में सब को लालच आप के ही वरदान की ।
इक इशारा कर दे आप को भर जाते खाली भंडार,
ओ मेरी लक्ष्मी माता जग में माया तेरी अपरम्पार ।।

लक्ष्मी माता को प्रसन्न करे

हे माँ क्या कंगला क्या साहूकार क्या राजा और भिखारी
आप की पूजा करते है सब बन चरणों के पुजारी ।
बिना आप के इस दुनिया में मैया जीना है बेकार
ओ मेरी लक्ष्मी माता जग में माया तेरी अपरम्पार ।।

हे माँ आप से सब सगे संबधी आप से रिश्ते नाते ,
आप बिना अपने भी मैया दूर से आँख चुराते ।
आप से ही तो मिलती इज्जत आप दिलो की है सत्कार,
ओ मेरी लक्ष्मी माता जग में माया तेरी अपरम्पार ।।

उधार नगद क्या गलत सही सब चाहे आप को पाना,
पाओ पकड़ सब करे प्राथना माँ तुम छोड़ न जाना ।
बैठ कमल पे सरल लिखा के,
घर आ जाओ इक बार ।।

ओ मेरी लक्ष्मी माता जग में माया तेरी अपरम्पार ।।




हमें उम्मीद है की लक्ष्मी माता के भक्तो को यह आर्टिकल “ओ मेरी लक्ष्मी माता जग में माया तेरी अपरम्पार लिरिक्स | O Meri Lakshmi Mata Jag Me Maya Teri Aprampar Lyrics” + Video + Audio बहुत पसंद आया होगा। लक्ष्मी भजन “O Meri Lakshmi Mata Jag Me Maya Teri Aprampar Lyrics” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment

आरती : जय अम्बे गौरी मैया जय श्यामा गौरी