प्रभु राम का बनके दीवाना छमाछम नाचे वीर हनुमाना लिरिक्स | Prabhu Ram Ka Banke Deewana Banke Chamcham Nache Lyrics

पवन पुत्र हनुमान जी का अति पावन भजन “प्रभु राम का बनके दीवाना छमाछम नाचे वीर हनुमाना लिरिक्स | Prabhu Ram Ka Banke Deewana Banke Chamcham Nache Lyrics” – रितेश मनोचा जी के द्वारा गाया गया है। इस भजन में श्रीराम के सबसे बड़े भक्त हनुमान जी की राम भक्ति बताया गया है।

Prabhu Ram Ka Banke Deewana Banke Chamcham Nache Lyrics

प्रभु राम का बनके दीवाना,
छमाछम नाचे वीर हनुमाना,
के राम सियाराम जपता है,
मस्त मगन रहता है,
के राम सियाराम जपता है,
मस्त मगन रहता है।।

राम के सिवा नहीं सूझे,
कोई दूजा नाम,
राम जी की धुन में,
रहता है ये आठों याम,
चुटकी बजाए,
खड़ताल बजाता है,
मुख से ये राम हरे,
राम गुण गाता है,
जग से ये होके बेगाना,
के राम सियाराम जपता है,
मस्त मगन रहता है,
के राम सियाराम जपता है,
मस्त मगन रहता है।।

हाथ में सोटा लाल लंगोटा,
पहना है,
सिंदूरी तन वाले तेरा क्या,
कहना है,
राम सिया राम नाम,
ओढ़ के चुनरिया,
नाच रहा मस्ती में,
अवध नगरीया,
भूल गया बाला शर्माना,
के राम सियाराम जपता है,
मस्त मगन रहता है,
के राम सियाराम जपता है,
मस्त मगन रहता है।।

राम चरण की धूलि,
माथे लगाई है,
मन में छवि श्री राम,
सिया की बसाई है,
राम जी के सेवक है,
बजरंग प्यारे जो,
अपना समय,
राम सेवा में गुजारे वो,
‘कुंदन’ करे ना बहाना,
के राम सियाराम जपता है,
मस्त मगन रहता है,
के राम सियाराम जपता है,
मस्त मगन रहता है।।

प्रभु राम का बनके दीवाना,
छमाछम नाचे वीर हनुमाना,
के राम सियाराम जपता है,
मस्त मगन रहता है,
के राम सियाराम जपता है,
मस्त मगन रहता है।।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here