मूषिकवाहन मोदकहस्त | Mushika Vahana Lyrics

भगवान गणेश का “मूषिकवाहन मोदकहस्त | Mushika Vahana Lyrics” Paul जी के द्वारा गाया हुआ है। इस वंदना में गणेश जी का अपने कारज में आमंत्रित किया जा रहा और उन्हें प्रसन्न किया जा रहा है।


Mushika Vahana Lyrics

मूषिकवाहन मोदकहस्त
चामरकर्ण विलम्बितसूत्र ।
वामनरूप महेस्वरपुत्र
विघ्नविनायक पाद नमस्ते ॥

Muussika-Vaahana Modaka-Hasta
Caamara-Karnna Vilambita-Suutra |
Vaamana-Ruupa Mahesvara-Putra
Vighna-Vinaayaka Paada Namaste ||

Mushika Vahana Lyrics

हमें उम्मीद है की गणेश जी के भक्तो को यह आर्टिकल “मूषिकवाहन मोदकहस्त | Mushika Vahana Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here