Kaisa Chakkar Chalaya Re Shyam Lyrics


Kaisa Chakkar Chalaya Re Shyam Lyrics

कैसा चक्कर चलाया रे,
श्याम तेरी उंगली ने,
कैसा चक्कर चलाया रै,
श्याम तेरी उंगली ने।

जब द्रोपदी दुष्टों ने घेरी,
जब द्रोपदी दुष्टों ने घेरी,
कैसा चीर बढ़ाया रै,
श्याम तेरी उंगली ने,
कैसा चक्कर चलाया रै,
श्याम तेरी उंगली ने।

जहर का प्याला राणाजी ने भेजा,
जहर का प्याला राणा जी ने भेजा,
कैसा अमृत बनाया रै,
श्याम तेरी उंगली ने,
कैसा चक्कर चलाया रै,
श्याम तेरी उंगली ने।

जब प्रहलाद कहाड़ में गेरा,
जब प्रहलाद कहाड़ में गेरा,
कैसा कमाल खिलाया रै,
श्याम तेरी उंगली ने,
कैसा चक्कर चलाया रै,
श्याम तेरी उंगली ने।

जब नरसी ने तुमको टेरा,
जब नरसी ने तुमको टेरा,
कैसा भात भराया रै,
श्याम तेरी उंगली ने,
कैसा चक्कर चलाया रै,
श्याम तेरी उंगली ने।

जब अर्जुन ने जैव्रत को मारा,
जब अर्जुन ने जैव्रत को मारा,
कैसा सूरज छिपाया रै,
श्याम तेरी उंगली ने,
कैसा चक्कर चलाया रै,
श्याम तेरी उंगली ने।

जब जब भक्तो ने तुमको पुकारा,
जब जब भक्तो ने तुमको पुकारा,
सबका कष्ट मिटाया रे,
श्याम तेरी उंगली ने,
कैसा चक्कर चलाया रै,
श्याम तेरी उंगली ने।

कैसा चक्कर चलाया रे,
श्याम तेरी उंगली ने,
कैसा चक्कर चलाया रै,
श्याम तेरी उंगली ने।

Leave a Comment