जहाँ डाल डाल पर सोने की चिड़ियाँ देशभक्ति गीत लिरिक्स | Jaha Daal Daal Par Sone Ki Chidiya Deshbhakti Geet Lyrics

देशभक्ति गीतजहाँ डाल डाल पर सोने की चिड़ियाँ देशभक्ति गीत लिरिक्स | Jaha Daal Daal Par Sone Ki Chidiya Deshbhakti Geet Lyrics” मोहम्मद रफ़ी जी के द्वारा गाया हुआ है।


Jaha Daal Daal Par Sone Ki Chidiya Deshbhakti Geet Lyrics

श्लोक
गुरुर्ब्रह्मा गुरुर्विष्णु,
गुरुदेव महेश्वरा,
गुरु साक्षात परब्रह्म,
तत्समये श्री गुरुवे नम:।

जहाँ डाल डाल पर,
सोने की चिड़ियाँ करती है बसेरा,
वो भारत देश है मेरा,
वो भारत देश है मेरा,
जहाँ सत्य अहिंसा और धर्म का,
पग-पग लगता डेरा,
वो भारत देश है मेरा।।

ये धरती वो जहाँ ॠषि मुनि,
जपते प्रभु नाम की माला,
जहाँ हर बालक एक मोहन है,
और राधाएक एक एक बाला
जहाँ सूरज सबसे पहले आकर,
डाले अपना फेरा,
वो भारत देश है मेरा,
वो भारत देश है मेरा।।

जहाँ गंगा जनुमा कृष्णा और,
काँवेरी बहती जाये,
जहाँ उत्तर दक्षिण पूरब पश्चिम,
को अमृत पिलवायें,
कहीं ये जल फल और फूल उगाए,
केसर कहीं बिखेरा,
वो भारत देश है मेरा,
वो भारत देश है मेरा।।

अलबेलों की इस धरती के,
त्योहार भी हैं अलबेले,
कहीं दीवाली की जगमग है,
होली के कही मेले,
जहाँ राग रंग और हँसी खुशी का,
चारों ओर है घेरा,
वो भारत देश है मेरा,
वो भारत देश है मेरा।।

जहाँ आसमान से बातें करते,
मंदिर और शिवाले,
किसी नगर में किसी द्वार पर,
कोई न ताला डाले,
और प्रेम की बंसी जहाँ बजाता,
आए शाम सवेरा,
वो भारत देश है मेरा,
वो भारत देश है मेरा।।

जहाँ डाल डाल पर,
सोने की चिड़ियाँ करती है बसेरा,
वो भारत देश है मेरा,
वो भारत देश है मेरा,
जहाँ सत्य अहिंसा और धर्म का,
पग-पग लगता डेरा,
वो भारत देश है मेरा।।

Jaha Daal Daal Par Sone Ki Chidiya Deshbhakti Geet Lyrics

हमें उम्मीद है की देशभक्तो को यह आर्टिकल “जहाँ डाल डाल पर सोने की चिड़ियाँ देशभक्ति गीत लिरिक्स | Jaha Daal Daal Par Sone Ki Chidiya Deshbhakti Geet Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Jaha Daal Daal Par Sone Ki Chidiya Deshbhakti Geet Lyrics ” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here