Jabse Mila Tu Sanware Kismat Savar Gai – जबसे मिला तू संवारे किस्मत सवर गई


Jabse Mila Tu Sanware Kismat Savar Gai
जबसे मिला तू संवारे किस्मत सवर गई

जबसे मिला तू संवारे, किस्मत सवर गई।
मेरी अँधेरी ज़िन्दगी, अब रोशन हो गई।।
जबसे मिला तू संवारे…

खेता रहा हु नाव मैं, पतवार के बिना।
जन्मो जन्मो का संवारे, तेरा दास मैं बना।।

तेरी दया से अब मेरी हालत सुधर गी।
जबसे मिला तू संवारे, किस्मत सवर गई।।

खाता रहा हु ठोकरे दर दर की मैं सदा।
हाथो को तूने थाम के चलना सिखा दिया।।

तूने दखाई राह को मंजिल ही मिल गी।
जबसे मिला तू संवारे, किस्मत सवर गई।।

बाबा कभी ना छोड़ना अब साथ तू मेरा।
यु ही सदा तू थामाना अब हाथ ये मेरा।।

तेरी मेहर से हर्ष की बगिया निखर गई।
जबसे मिला तू संवारे, किस्मत सवर गई।।

jabse mila tu sanware kismat savar gai

Leave a Comment