है प्रीत जहाँ की रीत सदा देशभक्ति गीत लिरिक्स | Hai Preet Jahan Ki Rit Sada Deshbhakti Geet Lyrics

देशभक्ति गीतहै प्रीत जहाँ की रीत सदा देशभक्ति गीत लिरिक्स | Hai Preet Jahan Ki Rit Sada Deshbhakti Geet Lyrics” महेंद्र कपूर जी के द्वारा गाया हुआ है।


है प्रीत जहाँ की रीत सदा देशभक्ति गीत लिरिक्स

जब ज़ीरो दिया मेरे भारत ने,
दुनिया को तब गिनती आई
तारों की भाषा भारत ने,
दुनिया को पहले सिखलाई,

देता ना दशमलव भारत तो,
यूँ चाँद पे जाना मुश्किल था,
धरती और चाँद की दूरी का,
अंदाजा लगाना मुश्किल था,

सभ्यता जहाँ पहले आई,
पहले जनमी है जहाँ पे कला,
अपना भारत वो भारत है,
जिसके पीछे संसार चला,
संसार चला और आगे बढ़ा,
यूँ आगे बढ़ा बढ़ता ही गया,
भगवान करे ये और बढ़े,
बढ़ता ही रहे और फूले-फले।

है प्रीत जहाँ की रीत सदा,
मैं गीत वहाँ के गाता हूँ।
भारत का रहने वाला हूँ,
भारत की बात सुनाता हूँ।।

काले-गोरे का भेद नहीं,
हर दिल से हमारा नाता है,
कुछ और न आता हो हमको,
हमें प्यार निभाना आता है,
जिसे मान चुकी सारी दुनिया,
मैं बात वही दोहराता हूँ,
भारत का रहने वाला हूँ,
भारत की बात सुनाता हूँ।।

जीते हो किसीने देश तो क्या,
हमने तो दिलों को जीता है,
जहाँ राम अभी तक है नर में,
नारी में अभी तक सीता है,
इतने पावन हैं लोग जहाँ,
मैं नित-नित शीश झुकाता हूँ,
भारत का रहने वाला हूँ,
भारत की बात सुनाता हूँ।।

इतनी ममता नदियों को भी,
जहाँ माता कहके बुलाते है,
इतना आदर इन्सान तो क्या,
पत्थर भी पूजे जातें है,
उस धरती पे मैंने जन्म लिया,
ये सोच के मैं इतराता हूँ,
भारत का रहने वाला हूँ,
भारत की बात सुनाता हूँ।।

है प्रीत जहाँ की रीत सदा,
मैं गीत वहाँ के गाता हूँ,
भारत का रहने वाला हूँ,
भारत की बात सुनाता हूँ।।

Hai Preet Jahan Ki Rit Sada Deshbhakti Geet Lyrics

Hai Preet Jahan Ki Rit Sada Deshbhakti Geet Lyrics

Jab Ziiro Diyaa Mere Bhaarat Ne
Bhaarat Ne Mere Bhaarat Ne
Duniyaa Ko Tab Ginatii Aayii
Taaro Kii Bhaashhaa Bhaarat Ne
Duniyaa Ko Pahale Sikhalaayii

Detaa Na Dashamalav Bhaarat To
Yuu Chaand Pe Jaanaa Mushkil Thaa
Dharatii Aur Chaand Kii Duurii Kaa
Andaaz Lagaanaa Mushkil Thaa

Sabhyataa Jahaan Pahale Aayii
Pahale Janamii Hai Jahaan Pe Kalaa
Apanaa Bhaarat Jo Bhaarat Hai
Jisake Piichhe Sansaar Chalaa
Sansaar Chalaa Aur Aage Badhaa
Jyuu Aage Badhaa, Badhata Hii Gayaa
Bhagavaan Kare Ye Aur Ba.Dhe
Bandhataa Hii Rahe Aur Phuule-phale

Hai Preet Jahan Ki Rit Sada
Mai Giit Vahaa.N Ke Gaataa Hu
Bhaarat Kaa Rahane Vaalaa Hu
Bhaarat Kii Baat Sunaataa Hu

Kaale-gore Ka Bhed Nahii.N
Har Dil Se Hamaaraa Naataa Hai
Kuchh Aur Na Aataa Ho Hamako
Hame Pyaar Nibhaanaa Aataa Hai
Jise Maan Chukii Saarii Duniyaa
Mai Baat Vohii Doharaataa Huu
Bhaarat Kaa Rahane Vaalaa Huu
Bhaarat Kii Baat Sunaataa Huu

Jiite Ho Kisiine Desh To Kyaa
Hamane To Dilo Ko Jiitaa Hai
Jahaa Raam Abhii Tak Hai Nar Me
Naarii Me Abhii Tak Siitaa Hai
Itane Paavan Hai.N Log Jahaa
Mai Nit-nit Shiish Jhukaataa Huu
Bhaarat Kaa Rahane Vaalaa Huu
Bhaarat Kii Baat Sunaataa Huu

Itanii Mamataa Nadiyo Ko Bhii
Jahaa Maataa Kahake Bulaate Hai
Itanaa Aadar Insaan To Kyaa
Patthar Bhii Puuje Jaate Hai
Is Dharatii Pe Maine Janam Liyaa
Ye Soch Ke Main Itaraataa Huu
Bhaarat Kaa Rahane Vaalaa Huu
Bhaarat Kii Baat Sunaataa Huu


हमें उम्मीद है की देशभक्तो को यह आर्टिकल “है प्रीत जहाँ की रीत सदा देशभक्ति गीत लिरिक्स | Hai Preet Jahan Ki Rit Sada Deshbhakti Geet Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “ Hai Preet Jahan Ki Rit Sada Deshbhakti Geet Lyrics ” के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here