दुनियां से मैं हारा तो आया तेरे द्वार लिरिक्स | Duniya Se Mai Haara To Aaya Tere Dwar Lyrics


श्याम बाबा
 का एक अद्बुध भजन “दुनियां से मैं हारा तो आया तेरे द्वार लिरिक्स | Duniya Se Mai Haara To Aaya Tere Dwar Lyrics”संजय सावंत जी के द्वारा गाया हुआ है। इनकी भक्ति से श्याम जी की कृपा बनी रहती है। बाबा श्याम अपने भक्तो पर अपना आशीर्वाद बनाये रखते है।


Duniya Se Mai Haara To Aaya Tere Dwar Lyrics

दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार ।
यहां से गर जो हारा, कहां जाऊंगा सरकार ।।

सुख में प्रभुवर तेरी याद ना आयी,
दुःख में प्रभुवर तुमसे प्रीत लगाई ।
सारा दोष हैं मेरा, मैं करता हूं स्वीकार,
यहां से गर जो हारा, कहां जाऊंगा सरकार ।।

मेरा तो क्या हैं, मैं तो पहले से हारा,
तुमसे ही पूछेगा ये संसार सारा ।
डूब क्यों नैय्या, तेरे रहते खेवनहार,
यहां से गर जो हारा, कहां जाऊंगा सरकार ।।

सबकुछ लुटा, बस लाज बची हैं,
तुमपे ही बाबा मेरी आस बंधी हैं ।
सुना हैं तुम सुनते हो, हम जैसो की पुकार,
यहां से गर जो हारा, कहां जाऊंगा सरकार ।।

जिसको बताया मैंने अपना फ़साना,
सबने बताया मुझको, तेरा ठिकाना ।
मेरी इस नैय्या के तुम ही हो खेवनहार,
मैंने तुमको माना हैं माता पिता परिवार ।।

यहां से गर जो हारा, कहां जाऊंगा सरकार ।।

दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार ।
यहां से गर जो हारा, कहां जाऊंगा सरकार ।।




हमें उम्मीद है की श्याम जी के भक्तो को यह आर्टिकल “दुनियां से मैं हारा तो आया तेरे द्वार लिरिक्स |Duniya Se Mai Haara To Aaya Tere Dwar Lyrics” + Video +Audio बहुत पसंद आया होगा। “Duniya Se Mai Haara To Aaya Tere Dwar Lyrics” भजन के बारे में आपके क्या विचार है वो हमे कमेंट करके अवश्य बताये। आप अपनी फरमाइश भी हमे कमेंट करके बता सकते है। हम वो भजन, आरती आदि जल्द से जल्द लाने को कोशिश करेंगे।

सभी प्रकार के भजनो के lyrics + Video + Audio + PDF के लिए AllBhajanLyrics.com पर visit करे।

Leave a Comment