बजरंगी के द्वार पे दुनिया जा रही है सारी भजन लिरिक्स – हनुमान भजन लिरिक्स

बजरंगी के द्वार पे दुनिया जा रही है सारी भजन लिरिक्स – हनुमान भजन लिरिक्स


बजरंगी के द्वार पे दुनिया जा रही है सारी भजन लिरिक्स
हनुमान भजन लिरिक्स

Bajrnagi Ke Dware Pe Duniya Jaa Rahi Saari
Dar Pe Jaake Jaake Baba Ke Sabka Ho Jata Uddhar
Dar Pe Jana Bajrangi Ke Dwar

Mere Bajrangi Hai Saare Bhakto Ke Rakhwale
Dware Pe Jo Bhi Ata Hai Bharti Jholi Khali
Dware Aake Dware Aake Bala Ke Koi Rehta Naa Lachar
Main To Jana Re Jana Apne Bajrangi Ke Dwar

Mehandipur Mein Balaji Ka Kitna Pawan Dhaam
Pahle Inhe Manau To Khush Hote Hai Ram
Sachche Bala Sachche Sab Jhootha Hai Sansaar
Main To Jana Re Jana Apne Bajrangi Ke Dwar

Saare Kaam chhod Duniya Ke Bajrangi Dar Jana
Dware Pe Unke Mile Koi Khajana
Main Bhi Pana Pana Re Bajrangi Ka Pyara

Naa Delhi Kalkatta Jana Naa Bhopal Bihar
Main To Jana Re Jana Apne Bajrangi Ke Dwar


बजरंगी हिंदी भजन लिरिक्स
हनुमान भजन लिरिक्स

बजरंगी के द्वार पे दुनिया जा रही है सारी,
दर पे जाके, जाके बाबा के,
सबका हो जाता उद्धार,
दर पे जाना बजरंगी के द्वार।।

मेरे बजरंगी है सारे भक्तो के रखवाले,
द्वारे पर जो भी आता है भरती झोली खाली,
द्वार आके द्वार आके बाला के कोई रहता न लाचार,
मैं तो जाना रे जाना अपने बजरंगबली के द्वार ।।

मेहंदीपुर में बालाजी का कितना पावन धाम,
पहले इन्हे मनाओ तो खुश होते है राम,
सच्चे बाला सच्चे सब जूठा है संसार,
मैं तो जाना रे जाना अपने बजरंग के द्वार ।।

सारे काम छोड़ के बजरंगी दर जाना,
द्वार पे उनके मिले कोई खजाना,
मैं भी पाना पाना रे बजरंगी का प्यार।।

ना दिल्ली कलकत्ता जाना ना भोपाल बिहार,
मैं तो जाना रे जाना अपने बजरंग के द्वार।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here